100+ Happy Makar Sankranti 2024 Shayari in Hindi | मकर संक्रांति पर शायरी

Rate this post

मकर संक्रांति पर शायरी | Makar Sankranti Shayari in Hindi

मकर संक्रांत एक त्योहार हिंदू धर्म मे सबसे पहला त्योहार माना जाता है क्यूकी इंग्लिश महिनो के मुताबित ये त्योहार पेहला त्योहार होता है | इस दिन सुबह सुबह सभी लोग एक दुसरे को हॅपी मकर संक्रांती बोलते है और इस दिन काले रंग के कपडे पहने जाते है | और महिला एक दुसरे को हळदी कुंकू देते है और उसके साथ गिफ्ट भी देते है | अब मैंने आपको मकर संक्रांति क्या होती है बता दिया है अब हम मकर संक्रांति के ऊपर शायरी देखने वाले है ये शायरी आपको आपके फ्रेंड्स फॅमिली को भेजने के लिए काम आयेगी आज की हमारे पोस्ट को सुरुवात करते है |

———————–

हो आप जीवन में खुशियाली, कभी भी न रहे
कोई दुख देने वाली पहेली,
सदा खुश रहें आप और आपकी Family,
Happy Makar Sankranti

तन में मस्ती, मन में उमंग
देकर सबको अपनापन
गुड़ में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग
और भर दें आकाश में अपने रंग

सजने लगी है आरती की थाली…
मंदिर में बजने लगी हैं घंटियां और सजने लगी हैं
आरती की थाली सूर्य की रोशन किरणों के
साथ अब तो सुनाई देती है एक ही बोली.
मकर संक्रांति की शुभकामनाएं

मीठे गुडगु मेंमिल गए तिल
उडी पतंग और खिल गए दिल
हर पल सुख और हर दिन शांति
आप सबके लिए लायेमकर संक्रांति
हैप्पी मकर संक्रांत

दिल को धडकन से पहले।
दोस्तों को दोस्ती से पहले।।
प्यार को मोहब्बत से पहले।
ख़ुशी को गम से पहले।।
आपको कुछ दिन पहले।
मकरसक्रांति की शुभकामना।।

Happy Makar Sankranti Shayari in Hindi 2024

मंदिर की घंटी, पूजा की थाली।
नदी के किनारे, सूरज की लाली।।
जिंदगी में आये खुशियों की हरियाली।
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार।।

नीली पीली रंग बिरंगी पतंग उड़ी आकाश में।
सतरंगी नील गगन हुआ चेहेरे खिले प्रकाश में।।

ख़ुशी का है यह मौसम।
गुड और तिल का है यह मौसम।।
पतंग उड़ाने का है यह मौसम।
शांति और समृद्धि का है यह मौसम।।

बासमती चावल हो और उड़द की दाल।
घी की महकती खुशबू हो और आम का अचार।
दहीबड़े की सुगंध के साथ हो अपनों का प्यार।।
मुबारक हो आप सभी को खिचड़ी का ये त्यौहार।।

पूर्णिमा का चाँद रंगों की डोली,
चाँद से उसकी चांदनी बोली,
खुशियों से भरे आपकी झोली,
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी,
पतंग वाली मकर संक्रांति।।

Makar Sankranti Status in Hindi

सोचा किसी अपने से बात करें,
अपने किसी खास को याद करें,
किया जो फैसला मकर संक्रांति की
शुभकामनाएं देने का,
दिल ने कहा क्यों ना शुरूआत आपसे करें।

कुछ का नसीब बदलेगा,
यह साल का पहला पर्व होगा,
जब हम सब मिल कर खुशियाँ मनाएंगे –
हैप्पी मकर संक्रांति

दिल में है छायी मस्ती
मन में भरी है उमंग
उड़ती हैं पतंगें रंग बिरंगी
आसमान में छाया मकर संक्रांति का रंग

सर्दी की इस सुबह पड़ेगा हमेनहाना,
मकर सक्रांति का पर्वकर देगा मोसम सुहाना,
दिन भर पतंग हमेंहैउड़ाना,
कहीं गुडगु कही तिल के लड्डू मिल कर हमेंहैखान

पूर्णिमा का चाँद रंगों की डोली,
चाँद से उसकी चांदनी बोली,
खुशियों से भरे आपकी झोली,
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी,
पतंग वाली मकर संक्रांति।।

Makar Sankranti Shayari 2024

प्रेम रतन धन पायो
सर्दी को मौसम आयो
दो दिन मे एक बार नहायो
गरम पानी से नहायो
स्वेटर पहन कर घर के बाहर जायो
खूब गज़क मूफली खायो
रजाई के बाहर मत आयो
भूल मत जाना मे कांई समझायो
वरना सर्दी लग जाएगी भायो
काल ख़ूब तिला रा लड्डू खायो
मकर संक्रांति की शुभकामनायें

बिन बादल बरसात नहीं होती,
सूरज के उगेबिना दिन की शुरुआत नहीं होती!
हम जानतेहैहमारेबिना विश की आप की
कोई त्यौहार शुरुआत नहीं होती, आप सभी को मकर संक्रांति की हार्दिक शुभ कामना।

कागज अपनी किस्मत से उड़ती है,
और पतंग अपनी काबिलियत से,
इसलिए किस्मत साथ दे या न दे,
पर काबिलियत हमेशा साथ देती है,
काबिल बनो, कामयाबी पीछे दौड़ेगी।

है प्यारा यह पर्व हमारा,
नया दिन और नया उजियारा,
मिट जाये सब क्लेश दिलों से,
मकर संक्रांति पर यही सन्देश है हमारा।

बासमती चावल हो और उड़द की दाल।
घी की महकती खुशबू हो और आम का अचार।
दहीबड़े की सुगंध के साथ हो अपनों का प्यार।।
मुबारक हो आप सभी को खिचड़ी का ये त्यौहार।।

Makar Sankranti Wishes Quotes Sms in Hindi Shayari

बिन सावन बरसात नहीं होती
सूरज दुबे बिन रात नहीं होती
अब ऐसी आदत हो गई है की
आपको wish किये बिन किसी
त्योहार की शुरुवात नहीं होती
Happy Makar Sankranti

पुराना साल जाता है नया साल आता है
साथ आप संक्रांति की खुशिया लता है
भगवान आप को वो खुशिया दे जो आप का दिल चाहता है
Happy Makar Sankranti

खुशियाँ ही खुशियाँ आपके हिस्से में आएं,
कामयाबी की बातें आपके किस्से में आएं,
आपकी शोहरत पूरी दुनिया में छाएं
आपको मकर संक्रंति की हार्दिक शुभकामनाएं।
Happy Makar Sankranti

खुशियों से भरे आपकी झोली
मुबारक हो आपको रंग बिरंगी
पतंग वाली मकर संक्रांति
Happy Makar Sankranti

मीठी बोली, मीठी जुबान,
मकर संक्रांति का यही हैं पैगाम.
Happy Makar Sankranti

Makar Sankranti Wishes in Hindi

मकर संक्रांति का ये प्यारा त्यौहार,
हर वर्ष आता ही रहे,
पतंगों की डोर में उलझा मुझे देखकर,
तेरा चाँद से चेहरा हमेशा मुस्कुराता ही रहे।

दिल को धड़कन से पहले,
दोस्तों की दोस्ती से पहले,
प्यार को मोहब्बत से पहले,
ख़ुशी को गम से पहले,
आपको कुछ दिन पहले
हैप्पी मकर संक्रांति

पल पल सुनहरे फूल खिले,
कभी न हो काँटों से सामना,
जिंदगी आपकी खुशियो से भरी रहे,
यही है मकर संक्रांति पर हमारी शुभकामना!

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी।
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की।।
छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी।
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की।।

बिन बादल बरसात नहीं होती,
सूरज के उगे बिना दिन की शुरुआत नहीं होती!
हम जानते है हमारे बिना विश के आपके
किसी त्यौहार की शुरुआत नहीं होती,
आप सभी को मकर संक्रांति की हार्दिक शुभ कामना !!

टूटे जीवन के भ्रम और भ्रान्ति,
सफलता के लिए करते रहे क्रांति,
ताकि जीवन में आये सुख और शांति
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति।
हैप्पी मकर संक्रांति 2024

Makar Sankranti Quotes in Hindi

लोहड़ी व मकर संक्रान्ति पर्व की हार्दिक मंगलकामनाऐं ।
सूर्य देव के उत्तरायण होने पर भारतवर्ष के
उजाले में वृद्धि के प्रतीक पर्व "मकर संक्रान्ति" पर
आपका जीवन भी प्रकाशमान हों,
ऐसी शुभेच्छा के साथ आप को पुनः मंगलकानाऐं व बधाई।🙏
*हर पतंग जानती है,*
*अंत में कचरे मे जाना* है
*लेकिन उसके पहले हमे,*
*आसमान छूकर दिखाना है ।*
*" बस ज़िंदगी भी यही चाहती है "*
✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨
*🎀 मकर सक्रांन्ति की शुभकामनाएँ 🎀*

सूर्य उत्तर की ओर सफर शुरू होता है
उन्होंने कहा कि इस साल भर के सभी खुशी बनाता है
आप और आपके परिवार को मेरी तरफ से  है
मकर संक्रांति बहुत खुश है

आप हमेशा यूँ ही मुस्कुराते रहें,
हर रिश्तें को प्यार से निभाते रहें,
जिंदगी में खुशियाँ जरा भी ना हो कम
आप यूँ ही मकर संक्रांति मनाते रहें।
Happy Makar Sankranti 2024

अद्भुत लग रही है
आज सूरज की लाली,
सजी है तिल और गुड़ से
आज पूजा की थाली,
आसमान भी आज पतंगो
के रंग से है रंगीन
मुबारक हो आपको ये
मकर संक्रांति का दिन.

Makar Sankranti Poetry in Hindi

मकर संक्रांति आई है,
खुशियों का सौगात लाई है
कही लोहड़ी, कही पोंगल
कही पीहू, कही भोगाली बिहु
कही माघी, कहीं खिचड़ी कहलाई
पर सबके घर खुशियाँ लाई
गुड़ तिल का लड्डू और चावल की लाई
घर-घर से देखो कितनी बढियाँ खुशबू आई
आकाश में हर तरफ है पतंग छाई
मकर संक्रांति सबके चेहरे पर मुस्कान लाई

बदलाव की बह रही है बयार
तेज रखो ज्ञान रुपी हथियार
रिश्तें बनाओ ऐसे कि बढ़े प्यार,
ईमानदार बनो ताकि बढे व्यापार,
जीवन संघर्ष के लिए रहो तैयार,
मकर संक्रांति की शुभकामनाएं देता हूँ
आपके जीवन में खुशिया लाये यह त्यौहार।

अद्भुत लग रही है
आज सूरज की लाली,
सजी है तिल और गुड़ से
आज पूजा की थाली,
आसमान भी आज पतंगो
के रंग से है रंगीन
मुबारक हो आपको ये
मकर संक्रांति का दिन.

आओ मिलकर मकर संक्रांति मनाएं
तिल का लड्डू खूब खाये और खिलाएं
घर में खुशियाँ ही खुशियाँ फैलाएं
अपने ख़्वाबों से ऊँचा पतंग हम उड़ाएं
आओ मिलकर हम सब नाचे गाएं
ताकि फ़िजा भी मदमस्त हो जाएं
आओ मिलकर मकर संक्रांति मनाएं
तिल का लड्डू खूब खाये और खिलाएं।
आज के दिन सुबह-सुबह नहाएं
सूर्य की आराधना में सिर झुकाएं
घी-खिचड़ी खाकर ठण्ड को भगाएं
आओ मिलकर मकर संक्रांति मनाएं
तिल का लड्डू खूब खाये और खिलाएं।।

शिक्षित बनों और जागो
छोड़ो रूढ़िवादी भ्रान्ति,
सफलता कर रही इंतज़ार तुम्हारा
घर से निकलकर, कर दो क्रांति
जीवन में संघर्ष करने वाला ही
पायेगा आगे चलकर सुख शांति
शुभ आशीष देने आ गया है
हमारा प्यारा मकर संक्रांति

तो आज हमने मकर संक्रांति के ऊपर शायरी दिखाई |  ये आपको बहुत काम आयेगी आपके फ्रेंड्स को शेअर करने के लिए आपके पास भी कोई शायरी होगी तो आप हमे कमेंट बॉक्समध्ये जरूर बताना उसके लिए हम एक स्पेशल पोस्ट लेके आयेंगे |

Leave a Comment